योग साधना से नकारात्मकता दूर होकर आत्म निर्भर भारत बनेगा  : अर्चना शुक्ल
अपनी जीवनशैली में सुधार करके हम योग प्रणायाम ध्यान को अपना कर ही हम अपने तमाम नकारात्मक विचारों को अलविदा कह सकते हैं अपनी स्वास्थ्य के साथ-साथ भविष्य को भी संवार सकते है

योग साधना से नकारात्मकता दूर होकर नयी उर्जा प्रदान करती है : अर्चना शुक्ल

आलोचनाओं से बेखौफ छोटे-छोटे लक्ष्यों के बजाए बड़ी छलांग के प्रति लगातार प्रयासरत स्पष्ट सोच व योजना तथा तेज क्रियान्वयन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यही खूबियां उन्हें दूसरों से अलग बनाती है कोरोना संक्रमण और भय के विश्वव्यापी काल में भी उनकी यही पहचान फिर से साबित हो रही है खासतौर कोरोना के बाद जान और जहान को बचाने का ही नहीं बल्कि चुनौतियों को अवसर में बदलने का जज्बा दिख रहा है ।।ऐसे में अर्पित सेवा संस्थान की सचिव अर्चना शुक्ला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के आह्वान पर लॉक डाउन पहले दिन से facebook लाइव के माध्यम से और सोशल मीडिया के तमाम माध्यमों के जरिए उन्होंने योग, प्रणायाम और ध्यान के माध्यम से अपनी रसोइयों के माध्यम से प्रतिदिन सांय 5:30 बजे अपनी facebook लाइव से योग के सभी लाभ सहित प्राणायाम ध्यान के प्रकार ,कैसे ध्यान लगा सकते हैं 

 इन सबको वह अपने लाइव फेसबुक के आधे से 1 घंटे के कार्यक्रम में बताती हैं। इसी कड़ी में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त जापान के टोक्यो से मोटिवेशनल स्पीकर योगा इंस्ट्रक्टर नूपुर तिवारी  को आमंत्रित किया और भारत में रह रहे लोगों को योग के प्रति जागरुक करने के लिए उनको जागरूक कर रही हैं नुपूर कहती है शरीर को चुस्त रखने वाले नियम दैनिक कार्य इन दिनों काफी कम हो चुके हैं ऐसे में बेहतर होगा कि पश्चिमी खाद्य पदार्थों के सेवन के बजाए अपनी भारतीय थाली और उसी के अनुसार पर्याप्त व्यायाम की परंपरा को जीवंत करें ताकि वजन भी नियंत्रण में रहे क्योंकि व्यायाम का और योग प्राणायाम का कोई विकल्प नहीं है।

 अपनी जीवनशैली में सुधार करके हम योग प्रणायाम ध्यान को अपना कर ही हम अपने तमाम नकारात्मक विचारों को अलविदा कह सकते हैं अपनी स्वास्थ्य के साथ-साथ भविष्य को भी संवार सकते है 

अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त जापान के टोक्यो से नुपूर तिवारी कहती हैं कि इस समय जरूरी है कि सब लोग आहार विहार का विशेष ध्यान रखें साधारण सब्जी रोटी दाल चावल से युक्त ताजा भोजन करें सात्विक भोजन करें ताजा दूध दही का सेवन करें चाय में एक पत्ता तुलसी और थोड़ा अदरक बहुत हितकारी है बासी भोजन खट्टे पदार्थ,खट्टा दही,बाहर से मंगवाया गया खाद्य पदार्थ ,खट्टे फलों का रस मांस मदिरा का दुकान का सेवन कतई न करे । हल्का गुनगुना पानी पिए यह विशेष रुप से श्वसन तंत्र के लिए लाभदायक होता है इसके अलावा भीड़ भाड़ जाने में परहेज करें।नुपूर कहती हैं ध्यान से हम अपने मन को काबू में कर सकते हैं तमाम परेशानियों को हम ध्यान से दूर कर सकते हैं ध्यान के जरिए हम सहज मानसिक संतुलन स्थापित कर के स्वस्थ रह सकते हैं इस संबंध में दुनिया में अभी तमाम शोध जारी है उनका मानना है कि ध्यान मनोविज्ञान के लिए बहुत उपयोगी है कोरोना महामारी के कारण सभी अपने घरों में सुरक्षित तो हैं पर आप मंथन चल रहा है अक्सर गंभीर समस्याओं का सामना करते हुए कुछ लोग हिम्मत हारने लगते हैं लेकिन अभी रुककर देखते रहने का समय है तात्कालिक चिंताओं का इलाज योग और मनोचिकित्सा से सम्भव है मनोचिकित्सा मुख्यतः ज्ञात व्यवहारिक उपचारों के लिए इस्तेमाल की जाती है निरंतर तनाव ग्रस्त जिंदगी जीने से व्यक्ति का मस्तिष्क संतुलन गड़बड़ाने लगता है तो मनोमस्तिष्क में नकारात्मक धुंध सा जन्म लेने लगता है मस्तिष्क अपनी कार्यकुशलता खो देता है और इसके चलते व्यक्ति को दर्जनों मानसिक बीमारियां घेर लेती है स्थिति कभी-कभी इतनी नाज़ुक हो जाती है योग ध्यान से हम अपने मन को काबू में कर सकते हैं अर्चना कहती हैं कोरोना में कारगर योग प्राणायाम ध्यान और आयुर्वेदिक औषधियों ।।नुपूर ने बताया कि आयुर्वेद का सिद्धांत है कि जो स्वस्थ है उन्हें कैसे स्वस्थ रखें और दूसरा जो संक्रमित है उन्ही कैसे बचाएं इसे अपनाते हुए वैज्ञानिक औद्योगिक अनुसंधान परिषद और आयुष मंत्रालय ने 4 दिनों औषधियों को कोविड 19 निदान में ट्राइल की अनुमति दी है अश्वगंधा पीपली मुलेठी और गिलोय से हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत सकते हैं साथ ही अपनी दैनिक दिनचर्या में हम आधे घंटे के लिए योग प्रणायाम ध्यान अपना कर अपनी जीवनशैली को स्वस्थ करते हुए हम कोरोना ही नहीं किसी भी बीमारी को हरा सकते हैं ।।अंत में संस्था की सचिव अर्चना शुक्ला नूपुर के भारत के लोगों को जागरूक करने के लिए उनको सादर धन्यवाद देती हैं और बराबर ऐसे ही प्रत्येक भारतवासी योग प्राणायाम ध्यान आयुर्वेद को अपनी जीवनशैली में शामिल करें इसके लिए उनके प्रयास की सराहना करती हैं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जिस तरीके से उन्होंने भारत के गरिमा को बढ़ाने का कार्य किया है इसके लिए वह उन्हें अनेक अनेक शुभकामनाएं प्रदान करती हैं।।

YOUR REACTION?



फेसबुक वार्तालाप